डीयू में स्टूडेंस्ट को एडमिशन कैंसिल करवाना पड़ेगा महंगा

दिल्ली यूनिवर्सिटी  के शैक्षिक सत्र 2019-20 में दाखिला प्रक्रिया में बदलाव की काफी की उम्मीद है. अंडर ग्रेजुएट कोर्स में सामान्य और ओबीसी वर्ग की आवेदन फीस को 150 से बढ़ाकर 250 कर दिया गया है. वहीं एससी/एसटी, पीडब्ल्यूडी और ईडब्ल्यूएस वर्ग की आवेदन फीस 75 से 100 रूपये का बढ़ सकती है. इसके अलावा जिन यूजी पाठ्यक्रम में प्रवेश परीक्षा के जरिए दाखिला होता है, उन सभी पाठ्यक्रम में आवेदन फीस भी बढ़ी है.

डीयू में स्टूडेंस्ट को एडमिशन कैंसिल करवाना पड़ेगा महंगा
डॉ सिंह ने बताया कि डीयू में दाखिले के दौरान स्नातक पाठ्यक्रम में छात्र बार-बार अपना दाखिला रद्द करवाते है. जिसकी वजह से दाखिला प्रक्रिया खत्म होने में ‘ज्यादा समय लग जाता है. इसे देखते हुए प्रवेश रद्द को लेकर कुछ निर्णय लिए गए है, जिसमें एक निर्णय यह है कि इस बार प्रवेश रद्द की फीस को 500 से बढ़ाकर 1000 रूपये कर दिया गया है. साथ ही प्रवेश रद्द की समय सीमा को भी घटा दिया गया है. इस बार एन-1 प्रक्रिया को लागू किया जाएगा. इसक अर्थ यह है कि अगर यूजी में दाखिले के लिए चार बार कट ऑफ निकाली जाती है, तो छात्र सिर्फ 3 बार ही दाखिला रद्द करवा सकते हैं.

20 मई से शुरु होगी आवेदन की प्रक्रिया
स्टैंडिंग कमेटी के सदस्य डॉ. रसाल सिंह ने यूनिवर्सिटी सर्किल को बताया कि 2 मई को स्टैंडिंग कमेटी की आखिरी मीटिंग थी. जिसमें आवेदन फीस बढ़ोतरी से संबंधित सभी प्रस्ताव को पास कर दिया गया है. फिलहाल, अभी इस पर अंतिम निर्णय अकादमिक बैठक(एसी) में लिया जाएगा. डॉ. सिंह के अनुसार डीयू में सभी पाठ्यक्रम के लिए आवेदन 20 मई से शुरु हो जाने की संभावना. जिसकी अंतिम तारीख 31 मई होगी.

14 जनू को आएगी पहली कटऑफ लिस्ट
ग्रेजुएट में दाखिले के लिए पहली कटऑफ 14 जनू को निकल सकती है. अभी तक पांच कट ऑफ का प्रस्ताव स्टैंडिंग कमेटी में पास हुआ है. उन्होंने बताया कि डीयू में दाखिला प्रक्रिया को आने वाले सप्ताह में एसी बैठक आयोजित की जाएगी.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: